VPN क्या है? हमे Free या Paid कौन सा VPN इस्तेमाल करना चाहिए?

आज जो इंटरनेट का उपयोग करता है। वो कभी न कभी VPN का नाम एक बार जरूर सुना होगा। लेकिन बहुत से लोगो को VPN की पूर्ण जानकारी नही होगी। क्योंकि इसका इस्तेमाल का ज़रूरत सभी लोगो को नही पड़ता है। इसके बावजूद आपलोगो को VPN की जानकारी होनी चाहिए। और इसी टॉपिक पर आज के इस लेख में हम बात करेंगे। 

VPN के बारे में आज हर व्यक्ति को जानना बहुत ज़रूरी है। क्योंकि आज इंटरनेट हर एक व्यक्ति इस्तेमाल करता है। ऐसे में VPN का काम है इंटरनेट पर हमारे Privacy Data को Secure रखना। इसके बारे में हम डिटेल्स में नीचे जानेंगे।

VPN की शुरआत 1996 में हुआ था। लेकिन इसको पूरे तरह से पब्लिक इस्तेमाल के लिए 1999 में प्रकाशित किया गया था। हमारे देश मे VPN को बहुत लोग नही जानते थे। और इसका मुख्य कारण यह था कि उनके पास इंटरनेट को बहुत बाद में पहुंचना।

VPN सभी प्रकार के Device के लिये मौजूद है। आप कंप्यूटर से तो Computer आप अपने मोबाइल में भी VPN को इस्तेमाल करके अपने डेटा को पहले से ज्यादा Secure करके रख सकते हैं। VPN दो प्रकार से मौजूद होते है। एक तो Free वाला और एक Paid वाला। आप चाहे तो दोनों में से कोई भी तरह के VPN का इस्तेमाल कर सकते हैं।

परंतु Free वाले VPN में आपको सभी Country का Proxy नही मिलेगा। इसके साथ ही बहुत सारे फीचर्स जो Paid वाले VPN में आपको मिलेगी। वो सब इसमें आपको देखने को नही मिलेगा। Free वाले VPN भी Security के लिए सही रहता है। लेकिन Paid VPN में Security level और भी ज्यादा टाइट मिलती है।

VPN क्या है? हमे Free या Paid कौन सा VPN इस्तेमाल करना चाहिए?

VPN एक तरह का Application या Extension के जरिये काम करता है। VPN का पूरा नाम Virtual Private Network है। जैसा का नाम से ही पता चल रहा है कि इसको इस्तेमाल करने से आप इंटरनेट पर पूरी तरह से Anonymously हो जाते हो।

दरसअल, जब हम इंटरनेट चलते हैं, तब हमारे Device का IP address पर ही इंटरनेट चलते रहता है। ऐसे में कोई Hackers लोग आपके IP address के जरिये आपके आपके Device पर Attack कर सकता है। इसके साथ ही अगर आप बिना VPN के इंटरनेट पर कुछ गलत काम कर रहे हो। तो आप आसानी से Track हो सकते हो।

इन्ही कामो को पूरी तरह से Secure करने के लिए VPN का उपयोग किया जाता है। जब आप एक बार VPN Connect कर देते हैं। तब आपका IP address Flactuate होने लगता है। मतलब VPN जो है आपके Original IP को Hide करके कई सारे Fake Ip address आपके Device के लिए Create कर देता है। जिससे आप पूरी तरह से इंटरनेट पर अनजान हो जाता है। हालांकि ऐसा नही है कि एक बार VPN लगा लिए तो Govrtment IT या कोई और एकदम ढूंढ ही नही सकता है।

जब हम इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं। तब आप ध्यान देते होंगे कि हमारे Device में बहुत वेबसाइट या ब्लॉग ज्यादातर खुलती हैं। जो हमारे देश के होते हैं। या फिर वो वेबसाइट नही खुलती जो हमारे देश मे बैंड होता है। तो इन सभी को आप VPN के द्वारा बदल सकते है। इसको जिस Country के लिए Set करोगे। तो उस Country के वेबसाइट खुलना शुरू हो जाएंगे।

अब बात आती है कि हमे Free VPN इस्तेमाल करना चाहिए या फिर Paid, Mobile और Computer दोनों के लिए Free और Paid VPN मौजूद है। ऐसे ही एक Paid VPN है Firefox VPN जो एक Paid VPN है। यह पूरी तरह से Secure VPN है। यह आपको 100% Security प्रोवाइड करता है। यह आपको VPN Connection में पूरी Help भी करेगा। अगर हम Recommended करूँ। तो आपको Paid VPN का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

VPN में Proxy क्या होता है?

VPN में Proxy उसके Server को बोलते हैं। यह एक प्रकार का Router होता है। जो Client और Server के बीच मे Transfer का काम करता है। जैसे ही आप किसी VPN में आप किसी देश के Proxy को Set करते हैं। 

तो वह वीपीएन आपके Ip address को उस Country के Server तक पहुँचा देता है। और उस देश के एक नया Ip create करके आपके डिवाइस को उस IP पर सेट कर देता है। जिससे आपका डिवाइस VPN कनेक्ट करने के लिए किसी और IP पर Run होना शुरू हो जाता है। जिससे हमारा Device पूरी तरह से इंटरनेट पर गुमनाम रूप से कम करना शुरू कर देता है।

Conclusion

अब तक हमने अपने इस लेख में VPN से सम्बंधित सारी जानकारी आपके साथ शेयर करने का प्रयास किया है। ताकि आपको VPN और उसके Proxy से सम्बंधित किसी भी प्रकार का और डाउट न रहे।

अगर आपको इसके अलावा भी वीपीअन के बारे में कुछ जानकारी चहुये होगा। तो आप बिंदास नीचे कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं।

तो मुझे उम्मीद है यह पोस्ट को आपने एन्जॉय खूब किया होगा। अगर आपको यह लेख पसंद आया है। तो कृपया कर इसे अपने सोशलमेडिया हैंडल पर शेयर जरूर करें।

Leave a Comment